ये गोचर, जोहड़, गुवाड़ की ज़मीन कब्जाने वाले!😊कुछ गाँवो में तो सार्वजनिक पौधरोपण के लिए ढंग की जगह ही नहीं बची सिवाय शमशान, कब्रिस्तान के !😊

image