अकबर:– आज हम बहुत खुश हैं सारे कैदियों को रिहा कर दिया जाये, जेल से एक बूढ़ा भी निकल के आया, 

अकबर:– तुम तो बहुत बूढ़े हो कब से यहां बंद हो….???

बूढ़ा कैदी:– हुजूर आपके अब्बु के ज़माने से

कैद हूँ…., अकबर रोते हुए

बोला:- इसको फिर से कैद में डाल दो, ये हमारे अब्बु की

आखिरी निशानी है…. 😂😂