ज़रूरी नहीं है मुहब्बत में, रोज दीदार हो बातें हो...

खामोशी से एक दूसरे की, पोस्ट पढ़ना भी मुहब्बत है...
#बेनाम_शायर