आगे जाना है तो आविष्कार कीजिए। बहिष्कार से घंटा कुछ नहीं होगा!