चाणक्य वाणी Cover Image
जब परिवार के सदस्य अप्रिय लगने लगें और पराये अपने लगे तो समझ लीजिए विनाश का समय आरम्भ हो चुका है ....
मूर्खता की चरमसीमा की और बढ़कर विश्वगुरू की परिकल्पना

हम आखिर किसे धोखा दे रहे है ??
About

education, motivation, inspiration